Monday, 8 August 2022

अजवाइन के फायदे - ajwain benefits ki Jankari

आपको अजवाइन के साथ सर्दी और खांसी का सामना करने के लिए तैयार रहना चाहिए ! शोध से पता चला है कि अजवाइन में एंटीट्यूसिव गुण या ठंड को दबाने वाले गुण होते हैं । आमतौर पर अजवाइन को सामान्य सर्दी और खांसी के इलाज के लिए जाना जाता हैं । शिशुओं , बच्चों और वयस्कों में सर्दी और खांसी आम है । 

अजवाइन


मौसम में थोड़े से बदलाव से लगातार खांसी और नाक से स्राव होने लगता है । इसके अलावा , सर्दी की शुरुआत सर्दी और खांसी सहित कई बीमारियों को लेकर आती है , क्योंकि इस मौसम में वायरस अधिक सक्रिय होते हैं । 
             






कम इम्यूनिटी वाले लोग आसानी से इसके शिकार बन जाते हैं । इसलिए आपको अजवाइन के साथ सर्दी और खांसी का सामना करने के लिए तैयार रहना चाहिए ! शोध से पता चला है कि अजवाइन में एंटीट्यूसिव गुण या ठंड को दबाने वाले गुण होते हैं । अजवाइन के फायदे कई हैं । 

आमतौर पर अजवाइन को सामान्य सर्दी और खांसी के इलाज के लिए जाना जाता हैं । इतना ही नहीं बल्कि अजवायन के कारण दमा के रोगियों के फेफड़ों में भी वायु प्रवाह बढ़ सकता है । अगर आप सोच रहे हैं कि खांसी के लिए अजवाइन का सेवन कैसे करें , तो यहां कुछ उपाय दिए गए हैं । खांसी के लिए अजवाइन के उपयोग तरीके


सर्दी - खांसी के लिए अजवायन की पोटली 


यह एक अद्भुत उपाय है जिसे सभी के लिए आजमा सकते हैं । तवे पर थोड़ा सा अजवायन डालकर भून लीजिए और जब इसकी महक आने लगे तो इसे एक साफ सूती कपड़े में निकाल लीजिए । इसे पोटली की तरह बांधकर अपने बच्चे की छाती पर दबाएं । हालांकि इस बात का ध्यान रखें कि पोटली ज्यादा गर्म न हो । नहीं तो यह आपके बच्चों की नाजुक त्वचा को सकता है । इस प्रक्रिया का पालन करते हुए हर दिन दो बार नाक और छाती की जकड़न दोनों को साफ करने में मदद मिल सकती है । 

अजवायन की भाप लेना 


बंद नाक के लिए गर्म भाप अद्भुत काम करती है और जब आप गर्म पानी में मुट्ठी भर अजवाइन डालकर उसकी भाप लेते हैं , तो बंद नाक सामान्य गर्म भाप की तुलना में जल्दी साफ हो जाती है ।

अजवाइन - लहसुन की पोटली बनाएं 


लहसुन की दो कली और एक मुट्ठी अजवाइन को तब तक भूनिये जब तक आपको अच्छी महक न आने लगे । उनके साथ एक पोटली बनाएं लेकिन इसे गर्म पैड के रूप में उपयोग न करें क्योंकि आपके बच्चे को लहसुन की तीखी गंध पसंद नहीं आ सकती है । इसके बजाय , पोटली को तकिए के नीचे रखना आदर्श है । कुछ देर तक गंध को अंदर लेने के बाद उनकी नाक और छाती में जमाव छूटने लगेगा । वयस्क इस पोटली को गर्म पैड के रूप में आसानी से उपयोग कर सकते हैं ।

अजवाइन , तुलसी और अदरक का मिश्रण 


फिर कुछ तुलसी के पत्तों को अजवायन और कटे हुए अदरक के साथ लगभग 15 मिनट तक उबालें । उसके बाद मिश्रण को छान कर ठंडा कर लें और अपने बच्चों को दिन में दो बार 1-2 चम्मच दें । अगर आप इस मिश्रण को बड़ों के लिए बनाना चाहते हैं , तो उबलते पानी में 4-5 साबुत काली मिर्च और 1/3 कप गुड़ डालें । यह मिश्रण सर्दी - खांसी और पेट के दर्द दोनों में कारगर है । 

अजवाइन के तेल की मालिश 


कुछ लोग ऐसे होते हैं जिन्हें अजवायन की कड़वी गंध और स्वाद पसंद नहीं होता है । उनके लिए अजवाइन के तेल की मालिश बेहद फायदेमंद होती है । गरम तेल में थोड़ा सा अजवायन मिलाकर कुछ देर के लिए रख दें ताकि अजवायन के पोषक तत्व तेल में मिल जाएं । 


अब अपनी छाती , नाक और पीठ की मालिश करें ताकि नाक और छाती की भीड़ को मुक्त किया जा सके । हालांकि सर्दी और खांसी के लिए नियमित अजवाइन अच्छी है , लेकिन अधिक से अधिक लाभ प्राप्त करने के लिए जैविक किस्म का चुनाव करना बुद्धिमानी है । 


जैविक अजवाइन की खेती बिना रसायनों और कीटनाशकों के प्राकृतिक रूप से की जाती है । उनकी गुणवत्ता शुद्ध रहती है , और कोई वाटर रिटेंशन नहीं होता है ।

No comments:

Post a Comment

Comments System

Disqus Shortname

Powered by Blogger.